मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना | Soil Health Card : ऑनलाइन आवेदन | पात्रता व उद्देश्य

|| सॉइल हेल्थ कार्ड योजना | Soil Health Card | मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना | Full information | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | How to apply Online | Helpline Number | How to print soil health card ||

logo

Soil Health Card Scheme

 

केंद्र सरकार दवारा देश के ग्रामीण युवाओं को रोजगार देने और किसानों की आय को दोगुना करने के लिए मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत किसानों को मिट्टी की गुणवत्ता का अध्ययन करके एक अच्छी फ़सल प्राप्त करने में सहायता मिलती है, और उर्वरकों की फसलवार सिफारिशें मुहैया कराई जाती हैं, जिससे किसानों को यह बताया जाता है कि कृषि‍ भूमि की उर्वरा क्षमता को किस प्रकार बढ़ाया जाए। ऐसे में किसानों को अपनी भूमि की सेहत जानने तथा उर्वरकों के विवेकपूर्ण चयन में मदद मिलती है। इस योजना से प्राधिकरण दवारा मिट्टी के सैंपल इकट्ठे किए जाएगें और फिर उनका परीक्षण किया जाएगा। परीक्षण के बाद आए परिणामों का विश्लेषण होगा और फिर मिट्टी की खासियत व कमी के बारे में सूची बनाई जाएगी। मिट्टी में जो भी कमी होगी किसानों को उसके बारे में बताया जाएगा। इस योजना में देश के 14 करोड किसानों को शामिल किया गया है। ग्रामीण युवा एवं किसान जिनकी आयु 40 वर्ष तक है, वे मृदा परीक्षण प्रयोगशाला की स्थापना एवं नमूना परीक्षण कर सकते हैं। प्रयोगशाला स्थापित करने में 5 लाख रूपए तक का खर्च आता हैं, जिसका 75% भुगतान केंद्र एवं राज्य सरकार दवारा किया जाता है। इस योजना से अब तक 11 करोड़ से ज्यादा मृदा स्वास्थ्य कार्ड बांटे गए जिससे किसानों की आय में वढोतरी और वेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार के रास्ते खुले हैं।   

 

सलों की पैदावार में होगी वढोतरी 

मृदा स्वास्थ्य कार्ड का इस्तेमाल करने से तुअर की फसल से किसानों की आय में प्रति एकड़ 25,000-30,000 रुपये का इजाफा हुआ है। इसी प्रकार, धान की खेती से किसानों की आय में प्रति एकड़क 4,500 रुपये, सूर्यमुखी की खेती से 25,000 रुपये प्रति एकड़, मूंगफली से 10,000 रुपये प्रति एकड़, कपास से 12,000 रुपये प्रति एकड़ और आलू की खेती से प्रति एकड़ 3,000 रुपये की आमदनी बढ़ी है। जविक धान की पैदावार में 20 फीसदी, गेहूं और ज्वार की पैदावार 10-15 फीसदी बढ़ी है, जबकि दलहनों की पैदावार में 30 फीसदी और तिलहनों में 40 फीसदी का इजाफा हुआ है। 

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना कैसे काम करती है 

  • सवसे पहले अधिकारी दवारा आपके खेत की मिट्टी के सेम्पल को इकठ्ठा किया जाएगा |
  • उसके बाद मिट्टी को परीक्षण के लिए लेबोरेटरी में भेजा जायेगा |
  • फिर वहां विशेषज्ञ दवारा मिटटी की जाँच की जाएगी।
  • उसके बाद उनके दवारा विभिन्न मिट्टी के सैंपल की ताकत और कमजोरी की सूची बनाई जाएगी।
  • यदि मिट्टी में कुछ कमी पाई जाती है, तो उसके सुधार के लिए सुझाव दिए जाएगें और उसकी एक सूची बनाई जाएगी |
  • इस प्रक्रिया के बाद इस रिपोर्ट को एक-एक करके किसान के नाम के साथ ऑनलाइन अपलोड किया जाएगा|
  • ताकि किसान अपने मिटटी का रिपोर्ट को जल्द से जल्द देख सके। इसके अलावा उनके मोबाइल पर भी इसकी जानकारी दी जाएगी।

योजना का अवलोकन

योजना का नाम मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना
किसके दवारा शुरू की गई भारत सरकार दवारा
लाभार्थी देश के नागरिक
प्रदान की जाने वाली सहायता फसलों की पैदावार को वढावा देना और किसानों की आय मे सुधार लाना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट

soilhealth.dac.gov.in

Information on Soil Health Card

  • मिट्टी की सेहत
  • खेत की उत्पादक क्षमता
  • पोषक तत्व की मौजूदगी एवं पोषक तत्व की कमी
  • पानी की मात्रा
  • अन्य उपस्थित पोषक तत्व
  • खेतों की गुणवत्ता सुधारने हेतु मुख्य दिशा-निर्देश।

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का उद्देश्य

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का मुख्य उद्देश्य फसलों की पैदावार को वढावा देकर किसानों की आय को दौगुना करना है और वेरोजगार युवाओं को रोजगार उपलव्ध करवाना है।      

Soil Health Card Scheme के लिए पात्रता 

  • भारत देश के स्थायी निवासी
  • किसान वर्ग
  • ग्रामीण वेरोजगार युवा
  • नौकरी की तलाश करने वाले

मिट्टी के वारे में दी जाने वाली जानकारी 

  • मिट्टी का प्रकार
  • मिट्टी में मौजूद पोषक तत्व सामग्री
  • फसल की गुणवत्ता के लिए कौन सा खाद डालें
  • फसल के लिए तापमान क्या होना चाहिए
  • बारिश की स्थिति
  • उपाय, जिनसे मिट्टी की गुणवत्ता को बढाया जा सकता है।
मुख्य तथ्य 
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के जरिए देश के किसानो की खेतों की मिट्टी जांच करके  मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किए जाएगें।
  • योजना का लाभ देश के 14 करोड़ किसानो को सरकार द्वारा प्रदान किया जायेगा |
  • लाभार्थीयो को उनके खेतों के अनुसार फसल लगाने का सुझाव मिलेगा|
  • इस कार्ड के माध्यम से किसानों को रिपोर्ट दी जाएगी,  जिसमे उनकी जमीन की मिट्टी की पूरी जानकारी होगी |
  • किसानो को एक खेत के लिए हर 3 साल में एक मृदा स्वास्थ्य कार्ड दिया जायेगा |
  • भारत सरकार दवारा इस योजना के लिए कुल 568 करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया है |
  • देश के सभी किसान इस योजना का लाभ उठा सकेगे।
  • केंद्र सरकार द्वारा मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण के पहले चरण (वर्ष 2015 से 2017) में 10.74 करोड़ कार्ड और दूसरे चरण (वर्ष 2017-2019) में 11.69 करोड़ कार्ड वितरित किये गए हैं।
  • इन कार्डों की सहायता से किसान अपने खेतों की मृदा के बेहतर स्वास्थ्य और उर्वरता में सुधार कर सकेगें। इसके साथ ही वे पोषक तत्त्वों का उचित मात्रा में उपयोग करने के लिए मृदा की पोषक स्थिति की जानकारी भी प्राप्त कर सकेगें।
Soil Health Card Scheme की मुख्य विशेषताएं 
  • देश के सभी राज्यों में इस योजना को लागू किया जाएगा।
  • इस योजना से किसानों को मिट्टी की जानकारी दी जाएगी।
  • फसलों की पैदावार वढेगी।
  • एक खेत के लिए सरकार तीन वर्षों में एक बार मृदा स्वास्थ्य कार्ड कार्ड जारी करेगी।
  • ग्रामीण युवाओं के लिए रोजगार के अवसर उपलव्ध होगें।
आयु सीमा 
  • न्युनतम – 18 वर्ष
  • अधिकतम – 40 वर्ष
मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज 
  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

776

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के लाभ 
  • इस योजना से किसानों को अच्छी फसल उगने में मदद मिलेगी जिससे उन्हें और देश दोनों का फायदा होगा।
  • इस योजना से किसानों के फसलों की पैदावार वढेगी।
  • इस योजना से मिट्टी के संतुलन और उसकी उर्वरकता को बढ़ावा दिया जाएगा, जिससे किसानों को कम कीमत में अधिक पैदावार मिलेगी।
  • इस योजना के लिए रासायनिक प्रयोगशालाओं की मदद से किसानों के खेतों की मिट्टी की जांच की जाएगी।
  • किसानों को मिट्टी की गुणवत्ता के वारे में जानकारी उपलव्ध करवाई जाएगी, कि किस मौसम से कौन सी फसल करनी है और जिससे उन्हें लाभ मिले।
  • इस योजना के पांच वर्ष पूरा होने पर 19 राज्यों के 76 जिलों को चुना गया है।
  • इस योजना से फसलों की खेती में प्रति एकड़ 30,000 रुपये तक का फायदा हुआ है।
  • पैदावार अच्छी होने से खरीदारी में भी वढोतरी होगी।
  • किसानों की आय दोगुनी होगी।
  • वेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार उपलव्ध होगें।
  • इस योजना का लाभ देश के सभी किसान वर्ग को प्राप्त होगा।

       

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के लिए कैसे करें आवेदन 
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक अधिकारिक वेव्साइट पे जाएं।
  • अब आपको ऑनलाइन आवेदन भरने के लिए लॉगिन वटन पे किल्क करें।

  • अब आपको State select करने के बाद continue वटन पे किल्क करना है।
  • यहां किल्क करने के बाद आपको user name/ password/ capcha code भरने के बाद login बटन पे किल्क करना है।

  • अगर आप पहली वार इस पेज में आए हैं तो आपको New registration वाले वटन पे किल्क करना है।

  • यहां किल्क करते ही आपको आवेदन फार्म में दी गई जानकारी भरनी है।
  • सारी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट बटन पे किल्क कर देना है।
  • यहां किल्क करते ही आपका इस योजना के लिए आवेदन कर दिया जाएगा।
मृदा स्वास्थ्य कार्ड को प्रिंट कैसे करें 
  • सबसे पहले लाभार्थी को अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा | 
  • अब आपको Farmer Corner में “Print Soil Health Card” का ऑप्शन पर क्लिक करना होगा | 
  • इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा |
  • अब आपको इस पेज मे state का चयन करने के बाद Continue बटन पे किल्क कर देना है।  
  • उसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुलकर आएगा| इस फॉर्म में आपको district, village, farmers name आदि जानकारी दर्ज करनी होगी |
  • सारी जानकारी भरने के बाद आपको अंत मे Search के बटन पर क्लिक कर देना है |
  • फिर आपके सामने मृदा स्वास्थ्य कार्ड खुल जायेगा, अब आपको इसका प्रिंट लेने के लिए प्रिंट आउट के बटन पे किल्क कर देना है।
  • इस तरह आपके दवारा प्रिंट करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
सैंपल ट्रैक करने की प्रोसेस 
  • सबसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Farmer’s corner के अंतर्गत Track your sample के लिंक पर क्लिक करना होगा। 
  • उसके बाद आपके सामने नया पेज खुल जाएगा। जिसमें आपको अपने राज्य, जिले, मंडल तथा गांव का चयन करना है और फार्मर का नाम, विलेज ग्रिड नंबर तथा सैंपल नंबर दर्ज करने के बाद Search के बटन पर क्लिक कर देना है ।
  • Search के बटन पर क्लिक करने के बाद संवधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर आ जाएगी।
मृदा परीक्षण प्रयोगशाला को लोकेट करने की प्रोसेस 
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Farmers Corner के अंतर्गत Locket Soil Testing Laboratory के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा। जिसमें आपको अपने राज्य तथा जिले का चयन करने के बाद View report या view map के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • यदि आपके दवारा View report के बटन पर क्लिक किया गया है, तो आपके सामने Soil Testing Lab की सूची खुलकर आ जाएगी और अगर आपने view map के बटन पर क्लिक किया है तो आपके सामने मैप खुलकर आएगा, जिसमें आपको सारे नजदीकी Soil Testing Laboratory मिल जाएंगी।
सैंपल रजिस्ट्रेशन मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रोसेस 
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Download tab के अंतर्गत Sample registration mobile app के लिंक पर क्लिक कर देना है ।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करोगे, तो यह मोबाइल ऐप आपके फोन में डाउनलोड हो जाएगी।
  • इस तरह आपके दवारा मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
टेस्ट रिजल्ट एंट्री मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रोसेस
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Download tab के अंतर्गत Test result entry mobile app के लिंक पर क्लिक कर देना है ।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करोगे, तो यह मोबाइल ऐप आपके फोन में डाउनलोड हो जाएगी।
  • इस तरह आपके दवारा मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
 CSC login process
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Digital seva Connect वाले लिंक पे किल्क करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
  • जिसमे आपको अपना Username or Email ID and Password दर्ज करना होगा।
  • उसके बाद आपको Sign in के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • Sign in के विकल्प पर क्लिक करते ही आपके दवारा CSC लॉगइन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
मृदा स्वास्थ्य डैशबोर्ड देखने की प्रोसेस 
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Soil Health Dashboard वाले लिंक पे किल्क करना होगा। 
  • जैसे ही आप इस लिंक पे क्लिक करोगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • जिसमे आपको State, district, sub-district and village का चयन करने के बाद Search के बटन पे क्लिक कर देना है।
  • Search के बटन पे क्लिक करते ही संवधित जानकारी आपकी कम्प्यूटर स्क्रीन पे आ जाएगी। ।
योजना की प्रगति देखने की प्रोसेस 
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Scheme progress वाले लिंक पे किल्क करना होगा। 
  • जैसे ही आप इस लिंक पे क्लिक करोगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको Scheme progress की category का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप Scheme progress की category का चयन करोगे तो स्कीम प्रोग्रेस रिपोर्ट आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर आ जाएगी।
पोर्टल एंट्री की प्रोग्रेस देखने की प्रोसेस 
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Progress of portal entry वाले लिंक पे किल्क करना होगा। 
  • जैसे ही आप इस लिंक पे क्लिक करोगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस तरह संवधित जानकारी आपके कम्प्यूटर स्क्रीन पे आ जाएगी।
CSC डैशबोर्ड देखने की देखने की प्रोसेस 
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको CSC dashboard वाले विकल्प पे किल्क करना होगा। 
  • जैसे ही आप इस विकल्प पे क्लिक करोगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • यहां आपके सामने 04 ऑप्शन दिखाई देगें।
  1. State Wise samples registered by CSC users-Count 
  2. Samples registered by CSC users-Count 
  3. Samples registered by CSC users 
  4. Date Wise, User Wise samples registered by CSC users 
  • यहां आपको अपनी आवश्यकतानुसार दिए गए विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • जिसमे आपको State, Year, Month, Date, VLEID आदि का चयन करने के बाद View के बटन पे क्लिक कर देना है।
  • इस तरह आपके दवारा CSC डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
उर्वरक खुराक से संबंधित जानकारी देखने की प्रक्रिया 
  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Fertilizer Doses for Crops वाले विकल्प पे किल्क करना होगा। 
  • जैसे ही आप इस विकल्प पे क्लिक करोगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • अब आपको राज्य तथा जिले का चयन करना होगा।
  • उसके बाद दिए गए पेज मे जानकारी भरने के बाद आपको Continue बटन पे किल्क कर देना है।  
  • जैसे ही आप इस बटन पे किल्क करोगे तो संवधित जानकारी आपकी कम्प्यूटर स्क्रीन पे आ जाएगी।  

संपर्क विवरण देखने की प्रक्रिया 

  • सवसे पहले लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपको Contact Us वाले विकल्प पे किल्क करना होगा। 
  • जैसे ही आप इस विकल्प पे क्लिक करोगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • जिसमे संपर्क से जुडी सारी जानकारी आपकी कम्प्यूटर स्क्रीन पे आ जाएगी।
Soil Health Card Scheme हेल्पलाइन नंवर 
  • 011-24305591
  • 011-2430548

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Last Updated on July 15, 2022 by Abinash

Leave a Comment

error: Content is protected !!