प्रवीण योजना 2022-23 | क्रियान्वयन प्रक्रिया | आवेदन प्रोसेस | पात्रता व उद्देश्य

 

|| UP Praveen Yojana | मुख्यमंत्री प्रवीण योजना | Praveen Scheme Registration || उत्तर प्रदेश सरकार दवारा राज्य मे बच्चों के भविष्य को उज्जवल वनाने के लिए प्रवीण योजना को लागू किया गया है| इस योजना के माध्यम से 10वीं एवं 12वीं कक्षा के छात्र-छात्राओं के लिए कौशल विकास मिशन के सर्टिफिकेशन कोर्स को पढ़ाई के दौरान संचालित करना है, अगर कोई छात्र किसी वजह से अपनी शिक्षा को बीच में छोड़ता है तो भविष्य में उसके पास रोजगार करने हेतु एक स्किल सर्टिफिकेट हो। जिसके माध्यम से उसे अपनी कुशलता के अनुसार एक बेहतर रोजगार प्राप्त करने मे मदद मिल सके| तो आइए जानते कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा|

Praveen Yojana

Praveen Yojana

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी दवारा शिक्षा विभाग एवं कौशल विकास मिशन के साझा प्रयास से प्रवीण योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के माध्यमिक विद्यालयों में 10वीं एवं 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के लिए कौशल विकास मिशन के सर्टिफिकेट कोर्सेज को निशुल्क संचालित किया जाएगा। जिससे राजकीय स्कूलों के विद्यार्थियों में जॉब वोकेशनल ट्रेनिंग के माध्यम से जॉब रेडी स्किल्स को डेवलप किया जाएगा। यह कोर्स 10वीं एवं 12वीं कक्षा के छात्र अपनी पढ़ाई करते समय कर सकेंगे। इस योजना की मदद से विद्यार्थियों को माध्यमिक स्तर की शिक्षा के साथ-साथ कौशल एवं राष्ट्रीय प्रेम की भावना विकसित करने वाली गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान की जाएगी। जिससे अगर कोई छात्र 10वीं या 12वीं के बाद अपनी शिक्षा को छोड़ देता है, तो उसके पास नौकरी प्राप्त करने के लिए एक सर्टिफिकेट कौशल होगा। जिसके आधार उन्हे आसानी से रोजगार मिल जाएगा|

योजना का अवलोकन

योजना का नाम प्रवीण योजना
किसके दवारा शुरू की गई उत्तर प्रदेश सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के छात्र-छात्राएँ
प्रदान की जाने वाली सहायता वोकेशनल ट्रेनिंग के माध्यम से जॉब रेडी स्किल्स को डेवलप करना
चयनित स्कूलों की संख्या 150 (प्रत्येक जिले से 2)
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन

प्रवीण योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य माध्यमिक विद्यालयों के 10वीं एवं 12वीं कक्षा के छात्र-छात्राओं के लिए कौशल विकास मिशन के सर्टिफिकेशन कोर्स को पढ़ाई करते समय संचालित करना है, ताकि स्कूल छोड़ने के बाद भी इन छात्रो के लिए रोजगार के अवसर प्रदान किए जा सकेंगे|

UP बिजली सखी योजना

योजना के लिए 150 स्कूलो का होगा चयन

उत्तर प्रदेश के माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा प्रवीण योजना के तहत 150 स्कूलों का चयन किया जाएगा। जिसमें प्रत्येक जिले के 02 स्कूल – एक हायर सेकेंड्री ब्वायज स्कूल और दूसरा हायर सेकेंडरी गर्ल्स स्कूल शामिल होंगे। इस योजना के तहत प्रदान की जाने वाली ट्रेनिंग विद्यार्थियों को बिल्कुल फ्री मे दी जाएगी|

प्रदेश के 21000 विद्यार्थियों को वोकेशनल ट्रेनिंग के जरिये स्कील्ड बनाया जाएगा

2022-23 में इस योजना के जरिये प्रदेश के 09 वीं कक्षा से लेकर 12 वीं कक्षा तक के 21000 छात्रों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करके स्वावलंबी बनाया जाएगा|

विद्यार्थियों को मिलेगी विशेष ट्रेनिंग

प्रवीण योजना के जरिये अब प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों के 10वीं एवं 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र अपनी पढ़ाई के साथ साथ कौशल विकास मिशन के सर्टिफिकेट कोर्सेज को पूरा कर सकेंगे। इस योजना के माध्यम से विद्यार्थियों को 11 विभिन्न ट्रेडों की ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी। जिसमें IT, Electronics, Beauty & Wellness, ODOP, Retail, Automobile आदि का प्रशिक्षण शामिल होगा। विद्यार्थियों को ट्रेनिंग पूरी करने के बाद सर्टिफिकेट भी प्रदान किए जाएगा। ताकि उन्हे इन सर्टिफिकेट के जरिये पढ़ाई छोड़ने के बाद भी एक बेहतर रोजगार मिल सकेगा|

UP Praveen Yojana

प्रवीण योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को उत्तर प्रदेश राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • लाभार्थी को सरकारी माध्यमिक स्कूल का विद्यार्थी होना चाहिए।
  • 10वीं एवं 12वीं कक्षा के छात्र-छात्राएं इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए पात्र हैं।

आवश्यक दस्तावेज 

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • 10वीं/12वीं कक्षा में अध्ययनरत होने का प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो

UP गम्भीर बीमारी सहायता योजना

UP प्रवीण योजना के लाभ

  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी दवारा शिक्षा विभाग एवं कौशल विकास मिशन के साझा प्रयास से प्रवीण योजना की पहल की गई है|
  • ये योजना प्रदेश के छात्र-छात्राओं के कल्याण के लिए चलाई गई है|
  • इस योजना के जरिये राज्य के सरकारी माध्यमिक विद्यालयों में कौशल विकास मिशन के सर्टिफिकेट कोर्सेज को संचालित किया जाएगा।
  • यह कोर्सेज 10वीं एवं 12वीं कक्षा में पढ्ने वाले छात्रों के लिए लागू होंगे|
  • इस योजना की खास वात यह है कि अगर 10वीं एवं 12वीं कक्षा के बाद कोई छात्र पढ़ाई छोड़ देता है, तो उसे रोजगार प्रदान करवाने के लिए एक सर्टिफाइड कौशल प्रदान किया जाएगा|
  • जिसके आधार पर ही छात्रो को रोजगार मिल सकेगा|
  • उत्तर प्रदेश के माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा योजना के तहत 150 स्कूलों का चयन किया गया है|
  • प्रदेश के प्रत्येक जिले से 2 स्कूल चुने जाएंगे जिसमें एक हायर सेकेंडरी ब्वायज स्कूल होगा और दूसरा हायर सेकेंडरी गर्ल्स स्कूल होगा।
  • योजना का लाभ देने के लिए विद्यार्थियों को 11 विभिन्न ट्रेडों जैसे- IT, Electronics, Beauty & Wellness, ODOP, Retail, Automobile आदि की ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी।
  • सन् 2022-23 तक 9वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक के 21000 छात्रों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करके योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के लिए आवेदन ऑनलाइन मोड के जरिये स्वीकार किए जाएंगे|

मुख्यमंत्री प्रवीण योजना की मुख्य विशेषताएँ

  • स्कूल टाइम के दौरान नि:शुल्क सर्टिफिकेशन कोर्स को संचालित करना
  • स्कूल छोड़ने के बाद भी छात्रो के लिए रोजगार के लिये एक सर्टिफाइड कौशल उपलब्ध होगा|
  • इस योजना से छात्र-छात्राओं को स्किल्ड वनाया जाएगा|
  • कौशल विकास मिशन की ओर से ऐसे विद्यार्थियों की ट्रेनिंग से संबंधित खर्च वहन किया जाएगा|
  • लाभार्थी छात्रो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाया जाएगा|

प्रवीण योजना के लिए कैसे करे आवेदन

जो लाभार्थी योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं, उन्हे थोड़ा इंतजार करना होगा| अभी योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है| जैसे ही योजना के सवन्ध मे आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी, तो हम आपको तुरंत सूचित कर देंगे|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on September 26, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!